Wednesday, January 7, 2009

रखना

चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी

आँख में आसमान रखना;
एक ऊंची उड़ान रखना।

पत्थरों का मिजाज़ पढ़कर,
ठोकरों का गुमान रखना।

सिर्फ़ छू कर न लौट आना,
चोटियों पर निशान रखना।

गिद्ध नज़रें लगीं फसल पर,
खेत में इक मचान रखना।

मंजिलों पर नज़र गडा़ कर,
हौसलों को जवान रखना।

ज्ञान रखना हरिक दवा का,
रोग का भी निदान रखना।

हाथ 'भारद्वाज' माचिस,
गाँव को सावधान रखना।

चंद्रभान भारद्वाज

13 comments:

ACHARYA RAMESH SACHDEVA said...

बहुत खूब
रमेश सचदेव

दिगम्बर नासवा said...

सिर्फ़ छू कर न लौट आना,
चोटियों पर निशान रखना।

खूबसूरत ग़ज़ल, बहुत खूब लिखा है
लाजवाब

Abhishek said...

पत्थरों का मिजाज़ पढ़कर,
ठोकरों का गुमान रखना।

सिर्फ़ छू कर न लौट आना,
चोटियों पर निशान रखना।
हर पंक्ति लाजवाब. साथ ही आपके प्रोफाइल ने भी प्रभावित किया. स्वागत.

रचना गौड़ ’भारती’ said...

नववर्ष् की शुभकामनाएं
कलम से जोड्कर भाव अपने
ये कौनसा समंदर बनाया है
बूंद-बूंद की अभिव्यक्ति ने
सुंदर रचना संसार बनाया है
भावों की अभिव्यक्ति मन को सुकुन पहुंचाती है।
लिखते रहि‌ए लिखने वालों की मंज़िल यही है ।
कविता,गज़ल और शेर के लि‌ए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
मेरे द्वारा संपादित पत्रिका देखें
www.zindagilive08.blogspot.com
आर्ट के लि‌ए देखें
www.chitrasansar.blogspot.com

अनूप शुक्ल said...

बहुत सुन्दर! आप ये वर्ड वेरीफ़िकेशन हटा दें ताकि आसानी से कमेंट किये जा सकें।

अशोक मधुप said...

बहुत खूबसूरत गजल।
हिंदी लिखाड़ियों की दुनिया में आपका स्वागत। अच्छा लिखे। खूब लिखे। बहुत सारी शुभकामनांए।

Amit said...

bahut sundar.....

प्रकाश बादल said...

वाह वाह क्या ग़ज़ल है। अब मज़ा आ रहा है कि आपकी ग़ज़लें और पाठक भी पढ़ रहें हैं व्लॉगवाणी से भी जुड़ना होगा। मेरी मदद जब माँगेंगे मिलेगी। आपका आशीर्वाद आप जब चाहें देते रहें। ग़ज़ल बहुत ही अच्छी और हर शेर लाजवाब है।

sonuu said...

par is se milta julta padha lag raha ha baher ya metar bhi ajeb sa ha

Jyotsna Pandey said...

ब्लॉग जगत में आपका हार्दिक स्वागत है!
मेरी शुभकामनाएं!
मेरे ब्लॉग पर भी आपका स्वागत है.

संगीता पुरी said...

बहुत सुंदर...आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है.....आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे .....हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

chandrabhan bhardwaj said...

Acharya Ramesh Sachdeva, Digamber Naswa, Abhishek, Rachana Gaud'Bharati', Anoop Shukla, Ashok Madhup,Amit, Prakash Badal, Sonuu, Jyotsna Pandey, Sangeeta Puri,sabhi ko meri ghazal par tippadi dene liye dhanywad.

नारदमुनि said...

bahut hee sundar. narayan narayan